छत्तीसगढ़

उपलब्धि: राज्य के पहले मैकेनाइज्ड एंड मैन्युल स्वीपिंग ऑपरेशन कमांड सेंटर का मंत्री अग्रवाल ने किया उद्घाटन

बिलासपुर :नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल ने आज यहां विकास भवन स्थित प्रदेश के पहले जीआईएस एवं जीपीएस बेस्ड मैकेनाइज्ड एंड मैन्युल स्वीपिंग ऑपरेशन कमांड सेंटर का उद्घाटन किया। कमांड सेंटर के माध्यम से शहर में मैकेनाइज्ड और मैन्युअल स्वीपिंग की एक जगह से ही मॉनिटरिंग की जा सकेगी। उद्घाटन अवसर पर मंत्री अमर अग्रवाल ने मैकेनाइज्ड स्वीपिंग और कमांड सेंटर ऑपरेट करने वाली कंपनी के अधिकारियों को निर्देश दिये कि 2 अक्टूबर तक पूरे शहर की साफ-सफाई में बड़ा परिवर्तन दिखना चाहिये। अग्रवाल ने निगम अधिकारियों को निर्देशित किया कि कमांड सेंटर के माध्यम से सड़कों की स्थिति को भी मॉनिटर करें और जिस सड़क में आवश्यकता हो वहां मरम्मत कराएं।

कमांड सेंटर में जीआईएस एवं जीपीएस आधारित ट्रैकिंग सिस्टम के जरिये स्वीपिंग मशीनों द्वारा की जा रही सफाई मशीनों की ऑनलाईन मॉनिटरिंग की जा सकेगी। कमांड सेंटर में सैटेलाईट इमेज के माध्यम से छोटी-छोटी गलियों में गंदगी देखकर उसकी मशीनीकृत एवं मैन्युल सफाई कराई जा सकेगी। कमांड सेंटर की खासियत है कि सफाई मशीनों को लाईव लोकेट किया जा सकेगा। सफाई मशीन में चार कैमरे लगाए गये है जो सीधे कमांड सेंटर से कनेक्ट हैं, जिनके माध्यम से प्रत्येक गली की साफ-सफाई सीधे मॉनिटर की जाएगी। पूरे शहर का सर्वे करके 6 सौ ऐसी जगहों को चिह्नित किया गया है जहां ज्यादा कचरा है, वहां स्पेशल टीम द्वारा सफाई कराई जा रही है।

ऐसे होगा जीपीएस आधारित ट्रैकिंग सिस्टम- सभी वाहनों के पूरे मार्ग का नक्शा पूरे काम काजी घंटों के साथ प्रदर्शित होता है ताकि सभी सड़कों का कवरेज पता लगाया जा सके। जीपीएस डिवाईस जो कि मशीन की स्पीड लिमिट को दर्शाने में मदद करती है और ये बताती है कि मशीन चल रही है या रूकी है। अगर मशीन के चालन में कोई फेर बदल होता है तो ऑफिस के नंबर पर मैसेज आ जाएगा ताकि तुरंत सुधार किया जा सके। मशीनों को लाइव लोकेट किया जा सके इसके लिये प्रत्येक मशीन में चार कैमरे लगाए गये हैं।

ऐसे होगी जीआईएस आधारित मैन्युल सफाई- पूरा शहर विशिष्ट कलर कोडिंग के साथ बीट्स में बांट दिया गया है जिसमें पूरे शहर को कवर किया जा सके और कोई भी क्षेत्र सफाई व्यवस्था से न छूटने पाए। सारी बीट्स विभिन्न कलर कॉड्स के अन्तर्गत उचित क्षेत्र समझने के लिये मूल सड़क स्तर पर बनाई गई है।

इस अवसर पर मैकेनाइज्ड स्वीपिंग कंपनी लाईन सर्विसेज लिमिटेड के अधिकारियों ने बताया कि 2 अक्टूबर के पहले पूरे शहर की सफाई-व्यवस्था में अमूलचूक परिवर्तन देखने को मिलेगा। शहर में 27 मशीनों के द्वारा सफाई कराई जा रही है। इसके साथ ही एक इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम भी रखी गई है। जहां भी गंदगी की सूचना मिलेगी वहां तत्काल इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम के माध्यम से सफाई कराई जाएगी। सफाई मशीनों से सफाई के साथ सड़कों की धुलाई भी कराई जा रही है। सड़को के किनारे लगे साईन बोर्ड में जमी धूल को भी पानी से साफ कराया जा रहा है। उद्घाटन अवसर पर महापौर किशोर राय, निगम आयुक्त सौमिल रंजन चौबे, निगम सभापति अशोक विधानी, महेशचंद्र कुमार एवं निगम के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

Comment here