छत्तीसगढ़

कला एवं संगीत के क्षेत्र में चक्रधर समारोह विख्यात-केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्रीसाय

रायगढ़ : केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्रीविष्णुदेव साय ने आज यहां रामलीला मैदान में दीप प्रज्जवलित कर 34 वें चक्रधर समारोह का विधिवत शुभारंभ किया। इस अवसर पर केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्री ने वासियों को गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि किसी के जीवन में विघ्न न हो, जिला, प्रदेश एवं देश उत्तरोत्तर विकास करें। उन्होंने कहा कि राजा चक्रधर की जयंती है।

रायगढ़वासियों का यह सौभाग्य है कि संगीत सम्राट राजा चक्रधर का अवतरण यहां हुआ। कला एवं संगीत के क्षेत्र में चक्रधर समारोह का नाम विख्यात है। देश एवं विदेश के ख्याति प्राप्त कलाकार यहां आते है एवं उनकी कला का आनंद उठाते है।

इस वर्ष भी यहां अनेक हस्तियां आ रही है, उन्होंने कहा कि राजा चक्रधर को कबड्डी एवं कुश्ती में भी रूचि थी। प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी इसका आयोजन किया जा रहा है। दस दिनों तक चक्रधर समारोह में आयोजन देखने का अवसर सभी को प्राप्त होगा।

केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्रीसाय ने कहा कि प्रधानमंत्रीनरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में अनेक कार्य किए जा रहे है। विगत चार वर्षो में संसदीय क्षेत्र में अनेक विकास कार्य हुए है। इस बार रायगढ़ से रायपुर तक नेशनल हाईवे घोषित किया गया है। उन्होंने कहा कि श्रमिकों के इलाज के लिए परसदा में 100 करोड़ रुपए का सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल बनाया जा रहा है, जो कि श्रमिकों के लिए वरदान है। रेलवे के क्षेत्र में स्टेशन अपग्रेड एवं स्टापेज की व्यवस्था भी की जा रही है। उन्होंने बताया कि पुरी से बीकानेर जाने के लिए भी स्टापेज हो गया है। स्टापेज हो जाने से कोटा जाने वाले यात्रियों को सुविधा होगी। इसी तरह हैदराबाद सिकंदराबाद जाने के लिए भी स्टापेज बनाया गया है।

विधायकरोशन लाल अग्रवाल ने कहा कि राजा चक्रधर की स्मृति में आयोजित चक्रधर समारोह सुर, ताल एवं छंद से सुसज्जित है। सुप्रसिद्ध कलाकार यहां अपनी प्रस्तुति दे रहे है। संगीत की इन्ही कला एवं विधा से रायगढ़ को सुगंधित एवं सुवासित करते है। यह अनूठा आयोजन लोक रूचि आयोजन है।

कलेक्टर श्रीमती शम्मी आबिदी ने कहा कि राजा चक्रधर कला एवं संगीत के साधक थे। वे अपने जीवन काल में संगीत एवं कला को जीवंत रखने के लिए समर्पित रहे। चक्रधर समारोह की प्रसिद्धि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर स्थापित हो चुकी है एवं इस आयोजन का एक अपना अलग मुकाम बन चुका है। कला एवं संगीत के क्षेत्र में महाराजा चक्रधर सिंह का योगदान अविस्मरणीय है। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के टीजर, फोटोग्राफ एवं समाचार चक्रधर समारोह के आफिसियल वेबसाईट पर उपलब्ध होंगे। इसके साथ ही सोशल मीडिया के ट्यूटर हैंडल, फेसबुक एवं यूट्यूब पर लाईफ टेलीकास्ट पूरे विश्व में समारोह के कार्यक्रम देखे जा सकेंगे।

इस अवसर पर कथक नर्तकविशाल कृष्णा एवं सुप्रसिद्ध गायकवेदमणि सिंह ठाकुर को सम्मानित किया गया। इस मौके पर जिला पंचायत के उपाध्यक्षनरेश पटेल, पूर्व मंत्रीओमप्रकाश राठिया, पुलिस अधीक्षकदीपक झा, सीईओ जिला पंचायत एवं चक्रधर समारोह की नोडल अधिकारी श्रीमती चंदन संजय त्रिपाठी, उर्वशी देवी सिंह, विजयश्री सिंह सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि, अधिकारीगण एवं कलाप्रेमी उपस्थित थे। आभार प्रदर्शन कुंवर देवेन्द्र प्रताप सिंह ने किया। कार्यक्रम का संचालन प्राचार्यराजेश डेनियल ने किया।

Comment here