अटल विकास यात्राछत्तीसगढ़

जिला निर्माण से बदला सुकमा का इतिहास

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा है कि जिला निर्माण के सिर्फ छह साल के भीतर सुकमा का इतिहास बदल गया है। उन्होंने आज शाम अटल प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान जिला मुख्यालय सुकमा में एक विशाल आमसभा को सम्बोधित करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए।

डॉ. सिंह ने आमसभा में सुकमा जिला निर्माण के ऐतिहासिक दिन को विशेष रूप से याद किया। उन्होंने कहा – 16 जनवरी 2012 को उस वक्त सुकमा का इतिहास बदला, जब इस इलाके को जिले का दर्जा मिला। इसके पहले सुकमा एक छोटा तहसील मुख्यालय हुआ करता था। जिला बनने के बाद यहां आम जनता के लिए विभिन्न सुविधाओं के साथ विकास के नये दरवाजे खुले। कलेक्टोरेट और जिला पंचायत कार्यालय और जिला अस्पताल भवन सहित लगभग 32 विभागों के जिला स्तरीय कार्यालय यहां शुरू हो गए। शिक्षा के क्षेत्र में भी सुकमा जिला तेजी से आगे बढ़ रहा है। नई पीढ़ी के लिए एजुकेशन हब का निर्माण हुआ। आज छह साल बाद अगर कोई पहली बार सुकमा आएगा, तो इसकी बदली हुई तस्वीर देखकर इसे पहचान नहीं पाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा- अपने रजत जयंती वर्ष अर्थात 2025 के आते तक छत्तीसगढ़ देश के तीन सर्वाधिक अग्रणी राज्यों की श्रेणी में शामिल हो जाएगा। डॉ. सिंह आज शाम राज्य के सुदूर दक्षिण में अंतिम छोर के जिला मुख्यालय सुकमा में प्रदेशव्यापी अटल विकास यात्रा के दौरान विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर सुकमा जिले के विकास के लिए 217 करोड़ 75 लाख रूपए के 34 निर्माण कार्याें का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। आमसभा में विभिन्न योजनाओं के तहत 59 हजार 253 हितग्राहियों को 39 करोड़ 65 लाख रूपए की सामग्री तथा अनुदान राशि का भी वितरण किया गया।

डॉ. सिंह ने कहा – विकास यात्रा की आज की इस विशाल आमसभा में एक दिन में 217 करोड़ रूपए से ज्यादा के निर्माण कार्यों का एक साथ लोकार्पण और भूमिपूजन अपनेआप में एक बड़ा कीर्तिमान है। सुकमा के शासकीय जिला अस्पताल में 21 विशेषज्ञ डॉक्टर और कई पैरामेडिकल कर्मचारी अपनी सेवाएं दे रहे हैं। यही तो विकास है। उन्होंने कहा – जिसे छत्तीसगढ़ में विकास देखना हो तो वह सुकमा जरूर आए। मुख्यमंत्री ने नये सुकमा जिले के विकास का श्रेय वहां की जनता को दिया और कहा कि सुकमा जिले के गांव-गांव में सड़कों का निर्माण हुआ है। जिले में चमचमाती सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। नक्सल प्रभावित इलाकों में जिस कार्य को असंभव माना जाता था, उसे हमारे पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों ने स्थानीय जनता के सहयोग से संभव कर दिखाया है।

मुख्यमंत्री ने कहा – आज सुकमा जिले के ग्राम मनीकोण्टा (विकासखण्ड-कोंटा) में 29 करोड़ 87 लाख रूपए की लागत से बनने वाले जवाहर नवोदय विद्यालय भवन का भूमिपूजन और शिलान्यास हुआ। सुकमा-कोंटा 78 किलोमीटर की सड़क में से 130 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित 59 किलोमीटर सड़क का भी लोकार्पण हुआ। डॉ. रमन सिंह ने कहा – सुकमा जिला तेजी से करवट बदल रहा है। यहां के बच्चे भी अब मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों और आईआईटी जैसे उच्च शिक्षा संस्थानों में दाखिला लेकर डॉक्टर और इंजीनियर बन रहे हैं। प्रशासनिक सेवाओं में जा रहे हैं। विकास का इससे बड़ा उदाहरण और क्या हो सकता है। उन्होंने जनसभा में कहा – पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी ने वर्ष 2000 में छत्तीसगढ़ राज्य का निर्माण किया था। वर्ष 2025 के छत्तीसगढ़ के भावी स्वरूप को ध्यान में रखकर राज्य सरकार ने ‘नवा छत्तीसगढ़ 2025’ के नाम से अटल दृष्टि पत्र बनाया है, जिसमें जनता के भी सुझाव लिए जा रहे हैं। अटल जी के सम्मान में विकास यात्रा का नामकरण अटल विकास यात्रा किया गया है।

डॉ. रमन सिंह ने कहा – नया रायपुर में भव्य अटल स्मारक बनाने के लिए प्रदेश के हर जिले के गांव-गांव से घरों के तुलसी चौरे से भी पवित्र माटी एकत्रित की जा रही है। उन्होंने सुकमा जिले के लोगों से भी अटल स्मारक के लिए अपने गांव की पवित्र माटी भेजने का आग्रह किया। डॉ. रमन सिंह ने आमसभा में छत्तीसगढ़ राज्य और सुकमा जिले के किसानों की ओर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद देते हुए कहा कि मोदी ने इस वर्ष धान खरीदी के लिए निर्धारित समर्थन मूल्य में 200 रूपए प्रति क्विंटल की वृद्धि की है। छत्तीसगढ़ सरकार इसमें अपनी ओर से 300 रूपए प्रति क्विंटल का बोनस दे रही है। इससे किसानों को सामान्य धान पर 2050 रूपए और ए-ग्रेड धान पर 2070 रूपए प्रति क्विंटल की दर से राशि मिलेगी। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सर्वोच्च प्राथमिकता वाली योजनाओं का भी उल्लेख किया और कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत छत्तीसगढ़ में लगभग 11 लाख गरीब परिवारों के पक्के मकान बन रहे हैं, उज्ज्वला योजना के तहत 36 लाख गरीब परिवारों की महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन दिए जा रहे हैं। राज्य के 55 लाख परिवारों को स्वास्थ्य बीमा के तहत स्मार्ट कार्ड दिए गए हैं, जिसमें सालाना 50 हजार रूपए तक निःशुल्क इलाज की सुविधा है।

डॉ. रमन सिंह ने कहा – राज्य की सहकारी समितियों में धान खरीदी एक नवम्बर से शुरू हो जाएगी और किसानों को लगभग डेढ़ माह के भीतर 2400 करोड़ रूपए का बोनस दे दिया जाएगा, जो सीधे उनके बैंक खातों में ऑनलाईन जमा हो जाएगा। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि प्रदेश के तेन्दूपत्ता संग्राहक परिवारों को विकास यात्रा में 750 करोड़ रूपए का बोनस दिया जा रहा है, जो एक माह के भीतर वितरित हो जाएगा। लगभग 12 लाख तेन्दूपत्ता संग्राहक परिवारों को चरण पादुकाओं का भी वितरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा – सरकार ने बिजली की सुविधा से वंचित मजरों-टोलों और घरों में बिजली का कनेक्शन देने का कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है। हमने ऐसे सभी मजरों-टोलों और घरों को रौशन करने का संकल्प लिया है। आमसभा को प्रदेश के स्कूल शिक्षा और आदिम जाति विकास मंत्री केदार कश्यप ने भी सम्बोधित किया। लोकसभा सांसद दिनेश कश्यप सहित अनेक जनप्रतिनिधि, विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी और हजारों की संख्या में जिले के किसान-मजदूर और आम नागरिक इस मौके पर मौजूद थे।

लोकार्पण-भूमिपूजन

मुख्यमंत्री के हाथों आज सुकमा की विशाल आमसभा में जिले के चार पूर्ण हो चुके निर्माण कार्याें का लोकार्पण और 85 करोड़ 07 लाख रूपए के 30 नये स्वीकृत निर्माण कार्याें का भूमिपूजन और शिलान्यास सम्पन्न हुआ। लोकार्पित निर्माण कार्यांे में राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक – 30 पर सुकमा से कोन्टा तक 78 किलोमीटर में से 130 करोड़ रूपए की लागत से पूर्ण हो चुकी 59 किलोमीटर की सड़क भी शामिल हैं। उन्होंने जिले के पुलिस बल के लिए एक करोड़ 08 लाख रूपए की लागत से निर्मित चार मंजिला बैरक और 81 लाख रूपए की लागत से निर्मित मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय भवन का भी लोकार्पण किया। डॉ. सिंह ने जिले के ग्राम मनिकोन्टा (विकासखंड-कोन्टा) में 29 करोड़ 87 लाख रूपए की लागत से बनने वाले जवाहर नवोदय विद्यालय भवन, विकासखंड छिंदगढ़ के ग्राम इत्तापारा से पटेल पारा तक छह करोड़ 28 लाख रूपए की लागत से और ग्राम कुंदनपाल से कुन्ना तक पांच करोड़ 73 लाख रूपए की लागत से किए जाने वाले डामरीकरण कार्याें सहित कुल 30 निर्माण कार्याें का शिलान्यास किया।

Comment here