मनोरंजनविदेश

मार्वल कॉमिक्स के लेखक हुए पंचतत्वों में विलीन

अमेरिका में कॉमिक बुक संस्कृति का चेहरा माने जाने वाले स्टेन ली ने सोमवार को अस्पताल में अंतिम सांस ली। वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे। वह 95 साल के थे। ‘मार्वल कॉमिक्स’ के जनक और ‘स्पाइडर मैन’, ‘हल्क’ जैसे किरदारों को गढ़ने वाले स्टेन ली के निधन की खबर आते ही हॉलीवुड से लेकर सोशल मीडिया पर शोक सा छा गया।

सभी ने स्टेन ली को नम आंखों से श्रद्दांजलि दी। स्टेन ली के फैंस ने मार्वल कॉमिक्स के जनक को उनके किरदारों के साथ अलग-अलग तस्वीरें पोस्ट की है। साथ ही इमोशनल कैप्शन भी लिखा। एक यूजर ने लिखा -‘वह शख्स जिसने अविश्वसनीय ब्रह्मांड बनाया और जिससे कई लोग प्रभावित हुए। उस शख्स को पूरी दुनिया याद करेगी।’

वहीं एक और यूजर ने स्टेन ली से मुलाकात का जिक्र करते हुए लिखा- ‘मुझे उनसे केवल एक बार मिलने का मौका मिला। उनसे मिलकर ऐसा लगा था कि बहुत पुराना कोई दोस्त है। हर किसी का व्यक्तित्व ऐसा नहीं होता लेकिन वह ऐसे ही थे। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।’ वहीं एक और यूजर ने लिखा – ‘मार्वल का परिवार स्टेन ली को स्वर्ग के अच्छे सफर की कामना करता हूं।

स्वर्ग में अब ऐसा मनोरंजन होगा जैसा पहले कभी नहीं हुआ होगा। हम लोग आपको यहां पर बहुत मिस करेंगे। आपका काम हमेशा जिंदा रहेगा। आप हम लोगों के सही में सुपरहीरो हैं।’

उनके निधन की खबर उनकी बेटी ने खुद प्रशंसकों को दी। 28 दिसंबर 1922 को न्यूयॉर्क में जन्मे ली ने 1961 में ‘दि फैंटास्टिक फोर’ के साथ मार्वल कॉमिक्स की शुरुआत की थी। बाद में इसमें स्पाइडर मैन, एक्स मैन, हल्क, आयरन मैन, ब्लैक पैंथर, थोर, डॉक्टर स्टैंज और कैप्टन अमेरिका जैसे किरदार शामिल किए गए। इन किरदारों पर बाद में फिल्में भी बनीं जिन्होंने बॉक्स ऑफिस पर भी जमकर धमाल मचाया।

मार्वल की अब तक की लगभग हर फिल्म में स्टेन ली ने कैमियो रोल किया। कॉमिक्स के अलावा ली ने फिल्मों में स्क्रीनप्ले भी लिखे थे। ली की कॉमिक्स के पूरी दुनिया में दीवाने हैं। स्टेन ली ने 2013 में अपनी पहली भारतीय सुपरहीरो फिल्म चक्र बनाई थी। कार्टून नेटवर्क, ग्राफिक इंडिया एवं पाओ इंटरनेशनल की साझेदारी में बनने वाली फिल्म ‘चक्र: द इंविंसिबल’ को कार्टून नेटवर्क पर लांच किया गया था। उन्होंने उस वक्त कहा था कि वह इसे लांच करने को लेकर काफी उत्साहित हैं।

फिल्म एक युवा भारतीय राजू राय की कहानी है, जो मुंबई में रहता है। राजू और उनके मार्गदर्शक डॉ. सिंह एक ऐसी तकनीकी पोशाक विकसित करते हैं, जिसे पहनने से शरीर के रहस्यमयी चक्र सक्रिय हो जाते हैं। किया। कॉमिक्स के अलावा ली ने फिल्मों में स्क्रीनप्ले भी लिखे थे। ली की कॉमिक्स के पूरी दुनिया में दीवाने हैं।

Comment here