छत्तीसगढ़

राजद्रोह की धारा लगने के बाद चर्चा में आए मांगीलाल का बड़ा खुलासा “भाजपा नेता CM भूपेश पर मानहानि करने बना रहे हैं दबाव” मुख्यमंत्री बघेल को लिखा पत्र

रायपुर : राजद्रोह की धारा लगने के बाद चर्चा में आए राजनांदगांव जिले के मुसरा निवासी मांगीलाल अग्रवाल ने सीएम भूपेश बघेल को पत्र लिखा है. पत्र में मांगीलाल ने भाजपा नेताओं पर इस मामले को लेकर राजनीतिक रोटी सेंकने का आरोप लगाया है. मांगीलाल ने चिट्ठी में आरोप लगाया है कि भाजपा नेता उस पर दबाव बना रहे हैं कि वह सीएम भूपेश बघेल और बिजली कंपनी के खिलाफ मानहानि का दावा करे. मांगीलाल ने सीएम भूपेश बघेल के प्रति राजद्रोह की धारा हटाने के लिए अपना आभार जताया है. साथ ही यह भी कहा है कि मैंने अपने जीवन में ऐसा मुख्यमंत्री नहीं देखा जो मुझ जैसे साधारण व्यक्ति की पीड़ा को समझकर तुरंत संज्ञान लेते हुए इतना बड़ा कदम उठाया. आपको बता दें कि मांगीलाल ने बिजली कटौती को लेकर एक वीडियो बनाकर वायरल किया था. जिसमें उन्होंने भूपेश सरकार पर इन्वर्टर कंपनी से सांठगांठ करने का आरोप लगाया था. इसके साथ ही मांगीलाल ने कहा था कि इन्वर्टर कंपनी से सांठगांठ की वजह से ही बिजली बार-बार बंद की जाती है. वीडियो वायरल होने के बाद बिजली कंपनी के अधिकारियों ने मांगीलाल के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी. पुलिस ने मांगीलाल के खिलाफ राजद्रोह की धारा 124 ए और सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार की धारा 505/1/2 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर गिरफ्तार कर लिया था. राजद्रोह का अपराध पंजीबद्ध होने की खबर मीडिया में आने के बाद सीएम भूपेश ने मामले में संज्ञान लेते हुए डीजीपी डीएम अवस्थी को फोन कर राजद्रोह की धारा लगाने पर नाराजगी जाहिर की थी और धारा को हटाने का निर्देश दिया था. सीएम की नाराजगी के बाद पुलिस ने मांगीलाल के ऊपर से राजद्रोह की धारा 124 ए हटा दी थी दिनांक 8 जून को मेरे द्वारा एक वीडियो वायल किया गया था, जिसमें 13 जून को पुलिस द्वारा धारा 124 ए राजद्रोह के प्रकरण और धारा 505 की धारा लगाई गई थी। जिस पर आपने संज्ञान लेते हुए तुरंत देशद्रोह की धारा को हटाने के लिए तुरंत संबंधित अधिकारियों को आदेशित कर धारा को हटाकर मुझे जेल जाने से बचा लिए। इसके लिए मैं और मेरा परिवार आपका हृदय से बहुत आभारी हैं। मैंने अपने जीवन में ऐसा मुख्यमंत्री नहीं देखा जो एक मुझ जैसे साधारण व्यक्ति की पीड़ा को समझकर तुरंत संज्ञान लेते हुए इतना बड़ा कदम उठाए। इस घटना के बाद जमानत होने के बाद जिला से भाजपा के कुछ लोग मेरे पास आ रहे हैं कि आप सरकार और बिजली विभाग पर मानहानि का मुकदमा दायर करें। लेकिन मेरी ऐसी कोई मानसिकता नहीं है। पिछले दो दिनों से मैं जमानत पर छूटकर आने के बाद कुछ लोग अपनी राजनैतिक रोटी सेकने के लिए बार-बार मेरे घर आ रहे हैं। मैं ऐसे लोगों से हाथ जोड़कर विनती करता हूं कि मेरा प्रकरण स्वयं मुख्यमंत्री देख रहे हैं। मैं उन पर पूरा विश्वास रखता हूं। और उनका बहुत आभारी हूं। इस प्रकरण में चार दिनों से जिला कांगेस कमेटी के अध्यक्ष नवाज खान, शहर कांग्रेस कमेटी के महासचिव जलालुद्दीन जिरबान मेरे संपर्क में थे। उन्होंने इस प्रकरण में प्रत्यक्ष रूप से पूरा सहयोग किया और मेरी पत्नी से मुख्यमंत्री से संपर्क कराया। टेलीफोन से बात कराकर इस प्रकरण में पूरा सहयोग दिए। इसके लिए परिवार आपसे मिलकर आभार जताना चाहता है, कृपया आप हमें समय प्रदान करने की कृपा करें।

Comment here