विदेश

मां को खूंखार रेपिस्ट से बचाने वाला बच्चा मौत से हारा

मॉस्कोः मां को खतरनाक रेपिस्ट से बचाते हुए खोपड़ी की हडिड्यां गंवाने वाले बच्चे की हादसे के 19 महीने बाद मौत हो गई । रेपिस्ट से लड़ते वक्त इस लड़के का सिर बुरी तरह जख्मी हो गया था। घटना के दिन वैन्या जब रसीवरोडविन्स्क स्थित अपने फ्लैट में पहुंचा तो भयानक नजारा देखा। प्रोनिन उसकी मां पर चाकू से वार कर रहा था। ऐेसे में वैन्या ने मां को बचाने के लिए 3 किलो का डंबल उठाकर प्रोनिन पर मारा लेकिन हमलावर ने उसी डंबल से वैन्या का सिर बुरी तरह कुचल दिया।
शोर सुनकर पड़ोसियों ने पुलिस बुला ली। मां और बेटे को दोनों को मरा समझकर हमलावर वहां से भाग निकला। वैन्या और उसकी मां खून से सने हुए फ्लैट में बेहोश मिले थे। हादसे के बाद बच्चा 9 महीना तक कोमा में रहा और उसकी मां के शरीर पर 27 जगह जख्म थे। हालांकि बेटे ने अपनी बहादुरी से अपनी मां की जान बचा ली। 37 वर्षीय प्रोनिन को 14 साल की जेल हुई थी लेकिन अब लड़के की मौत के बाद उस पर हत्या का मामला भी चलाया जाएगा। हमलावर प्रोनिन को पहले ही हत्या के एक मामले में दोषी करार दिया जा चुका था। इस हादसे और बेटे की गंभीर हालत की वजह से मां को गहरा सदमा लगा था।
हॉस्पिटल से रिलीज होने के बाद वह केवल दो बार ही अपने बेटे को देखने जा सकी। उनके बहादुर बेटे को ब्रेन डैमेज हुआ था और उसने अपनी खोपड़ी की आगे की लगभग सभी हड्डियां खो दीं थीं। वैन्या के इलाज के लिए बड़े पैमाने पर फंडरेजिंग कैंपेन भी चलाया गया और 1 साल बाद उसके होश में आने के कुछ लक्षण दिखने लगे थे।जब वह धीरे-धीरे रिकवर होते दिख रहा था तभी अक्टूबर में उसे फ्लू हो गया और काफी इलाज के बाद भी उसकी तबीयत बिगड़ती चली गई।लंबे समय तक जूझने के बाद मंगलवार को उसकी मौत हो गई ।
हादसे के बाद वैन्या की मां पूरी तरह से टूट चुकी है। वह अपने बेटे की हालत के लिए खुद को ही दोषी मानती है जबकि वह खुद प्रोनिन के हमले का शिकार बनी थी । महिला ने घटना से पहले अधिकारियों से अनुरोध किया था कि जेल से छूटे हुए हत्यारे को उनके पड़ोस में ना रहने दिया जाए। अब इस मामले की भी जांच की जाएगी कि मर्डर के दोषी पाए गए शख्स को बच्चे के घर के पास रहने की अनुमति क्यों दी गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close