छत्तीसगढ़

उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा आईसीएलए-2019 का शुभारंभ

रायपुर : उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने आज यहां पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय और ल्यूमिनेशेन्स सोसायटी ऑफ इंडिया के तत्वाधान में आयोजित चार दिवसीय आई.सी.एल.ए. कॉन्फ्रेंस (इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस ऑन ल्यूमिनेशेन्स एण्ड इट्स एप्लीकेशन्स)-2019 का शुभारंभ किया। उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि हमारी शैक्षणिक संस्थाए विश्व की सबसे प्राचीन और ज्ञान विज्ञान का प्रमुख केन्द्र रही है। किन्तु वर्तमान में शोध कार्यो में कमी के कारण इनके स्तर में कमी आ रही है। इसे दूर करने के लिए शैक्षणिक संस्थाओं में अध्ययनरत युवाओं में विज्ञान एवं तकनीकी शोध के विषय पर रूझान उत्पन्न करने की आवश्यकता है। कॉन्फ्रेंस का आयोजन शासकीय विज्ञान महाविद्यालय परिसर स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में किया गया। पटेल ने आयोजन की स्मारिका का विमोचन भी किया।
पटेल ने कहा कि राष्ट्रीय समृद्धि मुख्यतः प्रोद्यौगिकी, कच्चा माल और आर्थिक संसाधनों की उपलब्धता पर निर्भर करता है। जिसमें तकनीक की प्रमुख भूमिका होती है। आधुनिक तकनीक का बेहतर उपयोग कर राष्ट्रीय विकास की गति को बढ़ावा दिया जा सकता है। छत्तीसगढ़ में संसाधनों की प्रचुरता है किन्तु कुशल वैज्ञानिक कार्यबल की कमी है। उच्च शिक्षा में विज्ञान और तकनीक विषय पर बेहतर कार्य किया जाएगा। इसके लिए शासन स्तर, प्राशासनिक स्तर, तकनीकी शिक्षा केन्द्रों के शिक्षकों तथा विद्यार्थियों का सम्मिलित प्रयास आवश्यक है। प्रदेश में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के प्रयास किए जा रहें है। जनजाति क्षेत्रों के साथ ही महिलाओं की शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। आने वाले दिनों में शिक्षित होता छत्तीसगढ़ को मुख्य मिशन बनाया जाएगा। इस 6 वां आईसीएलए-2019 कॉन्फ्रेंस के आयोजन से छत्तीसगढ़ राज्य में एक बेहतर शोध व नवाचार का वातावरण बनेगा।
इस कॉन्फ्रेंस में देश-विदेश से लगभग 300 से अधिक विद्यार्थियों, शोधप्रतिनिध ले रहे है। इस कॉन्फ्रेंस में यूएसए, जर्मनी, पोलैण्ड, साऊथ अफ्रीका के प्रोफेसर शामिल होकर विषय पर व्याखान देंगे।
समारोह के उद्घाटन के अवसर पर कुलपति पं. रविशंकर विश्वविद्यालय प्रोफेसर के.एल. वर्मा ने उद्बोधन देते हुए पं. रविशंकर विश्वविद्यालय की स्थापना, प्रशासनिक गतिविधियों और उपलब्धि का उल्लेख करते हुए तकनीकी विषय पर आयोजित कॉन्फ्रेंस से प्रदेश के युवाओं लाभ प्राप्त होगा। इस अवसर पर ल्यूमिनेशेन्स सोसायटी ऑफ इंडिया अध्यक्ष डॉ. के.वी.आर. मूर्ति पोलैण्ड के प्रोफेसर मारेक ग्रीनबर्ग, प्रोफेसर नमिता ब्राम्हे सहित अन्य अतिथि प्रोफेसर सहित विद्यार्थीगण उपस्थित थे। इस कॉन्फ्रेंस में आयोजित ल्यूमिनेशेन्स के मॉडलों का भी उच्च शिक्षा मंत्री ने अवलोकन किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close