ADVT 728x90px
Breaking News

यूपी में भाजपा पार्षद ने सरेआम हेड कांस्टेबल को पीटा

गाजियाबाद : दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में भाजपा पार्षद और उनके भाई पर हेड कांस्टेबल से मारपीट करने, वर्दी फाड़ने व रिवॉल्वर लूटने के प्रयास करने का आरोप लगा है। मंगलवार की घटना में मसूरी थाने में कांस्टेबल ने पार्षद व उनके भाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पीड़ित के मुताबिक वह पार्षद पर दर्ज बिजली चोरी के मुकदमे का नोटिस तामील कराने गए थे। आरोप है कि उनसे गाली-गलौज की गई और विरोध पर मारपीट की गई। वहीं आरोपित पार्षद ने घटना से इनकार कर हेड कांस्टेबल पर ही आरोप लगाए।
चोरी की बिजली से डेयरी चलाने का आरोप
मसूरी एसएचओ ओपी सिंह ने बताया कि एक माह पूर्व बिजली विभाग की तहरीर पर वार्ड-62 से भाजपा के पार्षद अमित कुमार के खिलाफ बिजली चोरी का मुकदमा दर्ज कराया गया था। आरोप था कि वे चोरी की बिजली से आकाशनगर में डेयरी चला रहे थे। गार्डन एंक्लेव चौकी पर तैनात हेड कांस्टेबल रामपाल को नोटिस तामील कराने के लिए भेजा गया था। रामपाल के मुताबिक मौके पर अमित के भाई सनी मिला। सन्नी ने अमित को फोन कर कांस्टेबल के लिए अपशब्द और गाली का प्रयोग किया। आरोप है कि रामपाल के विरोध पर सनी ने अमित को तुरंत मौके पर बुला लिया और कांस्टेबल से मारपीट शुरू कर दी। करीब 45 वर्षीय कांस्टेबल ने विरोध किया तो उनकी वर्दी फाड़ दी। इसी दौरान अमित आ गए और फिर दोनों ने उन्हें पीटा। उन्होंने रिवॉल्वर लूटने के प्रयास का भी आरोप लगाया। इस दौरान उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी गई।
दोनों आरोपित फरार
एसएचओ का कहना है कि अमित के पिता रामबीर के खिलाफ भी बिजली विभाग द्वारा बकाया भुगतान न करने के आरोप में मुकदमा दर्ज है। इस मामले में पार्षद अमित कुमार और उनके भाई सनी के खिलाफ मारपीट, धमकी देने, सरकारी काम में बाधा पहुंचाने और सरकारी रिवॉल्वर लूटने का प्रयास करने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल दोनों आरोपित फरार हैं, जल्द ही गिरफ्तारी की जाएगी।
खुद को बताया बेकसूर
पार्षद अमित कुमार का कहना है कि बीते दिनों विद्युत विभाग ने उन्हें ओवरलो¨डग का नोटिस दिया था। इस संबंध में अधिकारियों से मिलकर सभी दस्तावेज प्रस्तुत किए थे। बिजली चोरी के मुकदमे आदि की जानकारी नहीं है। चौकी प्रभारी का फोन आया था तो उन्हें भी इसकी जानकारी दे दी गई है। उन्होंने हेड कांस्टेबल रामपाल पर गाली-गलौज करने और मारपीट करने का आरोप लगाया। पार्षद के मुताबिक वह घटनास्थल पर मौजूद भी नहीं थे। सूचना के एक घंटे बाद वह डेयरी पर पहुंचे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *