Breaking News

जहां-जहां भूपेश के पड़े कदम वहां-वहां भारी बहुमत से जीते हम रमन सिंह

रायपुर : लोकसभा चुनाव में भाजपा को बड़ी जीत मिली है. विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद गुटों में बंटी भाजपा इस जीत के बाद पूरे जोश में नजर आ रही है. पूर्व सीएम रमन सिंह इस जीत के बाद एक बार फिर सूबे के सीएम भूपेश बघेल पर जमकर हमला बोला है. उन्होंने सीएम पर गंभीर आरोप लगाने के साथ ही उन्हें आईना देखने की सलाह दी है.रमन सिंह ने कहा कि देश नए युग मे प्रवेश कर रहा है. नया इतिहास रचा गया. यह दूसरा अवसर है जब किसी राजनीतिक दल को अपने बूते सरकार बनाने का अवसर मिला. इस जीत के महानायक नरेंद्र मोदी और अमित शाह का मैं छत्तीसगढ़ की ढाई करोड़ जनता की ओर से अभिनंदन करता हूँ. यह चुनाव देश के लिए महत्वपूर्ण था. बीजेपी पहली बार 303 के आकंड़ों पर पहुँची है. वंशवाद की राजनीति को देश की जनता ने नकार दिया है. हर वर्ग का समर्थन नरेंद्र मोदी को मिला है. आज पूरे देश मे बीजेपी के भीतर उत्साह है.सीएम भूपेश बघेल के ऊपर तीखा हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की 9 सीट जितने से पहले भूपेश बघेल दावा कर रहे थे कि जिसकी विधानसभा होती है, जिसकी सरकार होती है लोकसभा में नतीजे उसके फेवर में आता है. लेकिन क्या हुआ. 5 महीने के उनके कार्यकाल को छत्तीसगढ़ की जनता ने नकारा है. बदलापुर की सरकार वाली मानसिकता छत्तीसगढ़ में चल नहीं सकती. एक वरिष्ठ मंत्री ने कहा था कि यदि 7 सीट बीजेपी जीतती है तो हमे समीक्षा करने की जरूरत है. भूपेश देश मे जहां जहां गए कांग्रेस का बट्टा बैठ गया. अमेठी में राहुल को जीता नहीं पाए, भोपाल में दिग्विजय हार गए. लखनऊ पहुँच गए वहां भी हार मिली कांग्रेस की लुटिया डुबो दी. छत्तीसगढ़ में सबसे बड़ी हार दुर्ग से हुई जो उनका गढ़ है. भूपेश बघेल की अपनी बूथ में, विधानसभा में कांग्रेस चुनाव हार गई. विधानसभा में 68 सीट पर जितने के बाद लोकसभा चुनाव में 66 विधानसभा में बीजेपी को बढ़त मिली.रमन सिंह ने कहा कि भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री को आइना भेजा था. अब एक बार उस आईने में अपना चेहरा देख लें. ट्वीट पर कमेंट कर लिखा था कि अरे प्रधानमंत्री जी रिजल्ट का इंतजार कर लेते अभी से झोला उठाकर चल दिये. झोला उठाकर जाने की जरूरत अब उन्हें है. इस चुनाव में बीजेपी को 50 फीसदी से ज्यादा वोट मिले हैं. भूपेश बघेल राष्ट्रीय स्तर के नेता बनने का ख्वाव देख रहे थे. इस चुनाव में कई बड़े नेताओं की हार हुई है. छत्तीसगढ़ में 5 महीनों में लोगों का भ्रम टूट गया हउन्होंने कहा नरेंद्र मोदी की जीत है. ये राष्ट्रभक्तो की जीत है. छत्तीसगढ़ में कार्यकर्ताओं ने अपनी एकजुटता और शक्ति दिखाई है. ये संदेश दिया है कि हम जनता का विश्वास जीत सकते हैं. केंद्र की राजनीति से जुड़े सवाल पर कहा कि मैं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हूँ इस आधार पर मुझे बड़ी जिम्मेदारी केंद्रीय नेतृत्व में है ही, पहले चरण के मतदान में कार्यकर्ताओं के मन मे दबाव था. नक्सलियों के डर की वजह से कार्यकर्ता घर से पूरी तरह से निकल नहीं पाए. 2018 के चुनाव में कांग्रेस के झूठे वादे उनके घोषणा पत्र को देखकर लोगों ने वोट दिया था लेकिन ये अब भ्रम टूट गया है. हमारी अपनी भूमिका होगी. राज्य के विकास के लिए छत्तीसगढ़ के सांसदों की अहम भूमिका होगी. यहां के नेशनल हाइवे के प्रोजेक्ट, रेलवे के प्रोजेक्ट जैसे कई कामों में बीजेपी के सांसद केंद्र सरकार में अपनी उपस्थिति दर्जा कर राज्य के हितों का ध्यान रखेंगे.टिकट लड़कर चुनाव जीतते आप केंद्रीय मंत्री बनकर सुखद रिटायरमेंट ले लेते. इस सवाल के जवाब में डॉक्टर रमन सिंह ने कहा सत्ता में रहना ही राजनीति की भूमिका नहीं होती. मैं छत्तीसगढ़ में काम कर रहा हूँ. 9 सीट हम सबने जिताकर दिया है. इससे बड़ी भूमिका क्या होगी.

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *