विकास यात्रा 2018

डॉ.रमन सिंह विकास यात्रा 2018 : प्रदेश की 10 हजार से अधिक जनसंख्या वाली ग्राम पंचायतों को दिया जाएगा नगर पंचायत का दर्जा

रायपुर| मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने कहा है कि राज्य सरकार ने प्रदेश की 10 हजार या इससे ज्यादा जनसंख्या वाली ग्राम पंचायतों को नगर पंचायत का दर्जा देने का निर्णय लिया है। उन्होंने छत्तीसगढ़ की सुप्रसिद्ध तीर्थ नगरी शिवरीनारायण को तहसील का दर्जा दिया जाएगा। इसी कड़ी में पामगढ़ को नगर पंचायत का दर्जा दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने आज प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान जांजगीर-चांपा जिले के पामगढ़ के कुटराबोड़ में आयोजित आम सभा को संबोेधित करते हुए यह घोषणा की।
मुख्यमंत्री ने आम सभा में कहा जांजगीर-चांपा जिला सदियों से ही धार्मिक तथा सांस्कृतिक गतिविधियों का केन्द्र रहा है और सामाजिक समरसता यहां की विशिष्ट पहचान है। उन्होंने कहा कि जांजगीर-चांपा जिले में पहले रोजगार के अभाव में सबसे अधिक पलायन होता था, परन्तु आज यहां की स्थिति मंे कॉफी बदलाव आया है। सरकार द्वारा चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं और कौशल उन्नयन कार्यक्रमों की वजह से यह क्षेत्र पलायन से मुक्त हुआ हैं। अब इसकी पहचान प्रदेश के सर्वाधिक सिंचित जिले के रूप में होने लगी है। इस जिले में किसानों को साल भर खेती-किसानी तथा बहुफसली उत्पादन से अच्छी आमदनी होने लगी है। आम सभा में मुख्यमंत्री ने गांव गरीब और किसानों के लिए संचालित की जा रही विभिन्न योजनाओं और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना से गरीब परिवारों को 5 लाख रूपए तक के इलाज की सुविधा मिलेगी। इस योजना से छत्तीसगढ़ के 37 लाख गरीब परिवारों को लाभ मिलेगा। आम सभा को लोक सभा संासद श्रीमती कमला देवी पाटले और संसदीय सचिव एवं पामगढ़ के विधायक श्री अम्बेश जांगड़े ने भी संबोधित किया।
डॉ. सिंह ने आम सभा में 124.41 करोड़ रूपए के 42 विकास कार्यो का लोकार्पण व शिलन्यास किया। इनमें सात करोड़ की लागत से पूर्ण हो चुके 15 कार्यों का लोकार्पण तथा 117 करोड़ 33 लाख रूपए के 27 नए निर्माण कार्यों का भूमिपूजन किया गया। मुख्यमंत्री ने आम सभा में 25 हजार 947 किसानों को 39 करोड़ 17 लाख रूपए का धान बोनस कम्प्यूटर में क्लिक कर किसानों के खाते में ऑनलाईन जमा किया। मुख्यमंत्री ने 5004 परिवारों को आबादी पट्टा और दस हजार हितग्रहियों को विभिन्न योजनाओं में सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किए। श्रम विभाग की योजनों मंें श्रमिकों को 26 सौ सायकल और 3150 औजार और सुरक्षा उपकरण किट और 28 दिव्यांगों को मोटराईज्ड ट्राईसायकल वितरित की। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से 4 करोड 82 लाख रूपए की लागत से कुटीघाट, शिवरीनारायण, खरौद, पामगढ़ में निर्मित शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला भवन और पामगढ़ में 51.24 लाख रूपए की लागत से निर्मित मिनी स्टेडियम शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने आम सभा में

जिन कार्याें का शिलान्यास किया, उन कार्यों में 94.32 करोड़ रूपए की लागत से पामगढ़-भिलौनी-ससहा-सोनसरी-जोंधरा-लाहौद तक बनने वाली लगभग 31 कि.मी. सड़क के अलावा 5.20 करोड़ की लागत से शिवरीनारायण-खरौद सड़क, एक करोड़ 97 लाख रूपए की लागत से पकरिया-कोड़ाभाट और एक करोड़ 65 लाख रूपए की लागत से व्यासनगर-मुलमुला सड़क तथा 2 करोड़ 22 लाख रूपए की लागत से केरा में बनने वाला सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का भवन शामिल है।
आम सभा में विधान सभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, पंचायत एवं ग्रामीण मंत्री श्री अजय चंद्राकर, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, लोकसभा संासद श्रीमती कमला देवी पाटले, संसदीय सचिव श्री अम्बेश जांगड़े, विधायक श्री खिलावन साहू, छत्तीसगढ़ अंत्यवसायी सहकारी वित्त विकास निगम के अध्यक्ष श्री निर्मल सिन्हा, छत्तीसगढ़ वनौषधि पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सवन्नी, पूर्व विधान सभा अध्यक्ष श्री नारायण चंदेल और पूर्व मंत्री श्री मेघाराम साहू सहित अनेक जनप्रतिनिधि और ग्रामीण बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close