छत्तीसगढ़

मंत्रालय में राज्य कैम्पा की संचालन समिति की बैठक सम्पन्न

वृक्षारोपण की नियमित मॉनिटरिंग सुनिश्चित करने के निर्देश

रायपुर : मुख्य सचिव अजय सिंह की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में राज्य कैम्पा की संचालन समिति की बैठक संपन्न हुई। मुख्य सचिव ने वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि राज्य में जहां पर वृक्षारोपण किया गया है। वहां वन विभाग के अधिकारी नियमित रूप से मॉनीटरिंग करें। बैठक में राज्य कैम्पा निधि के अंतर्गत राज्य के वन वृत्तों, वन मंडलों, उप-वन मंडलों और परिक्षेत्रों में किए गये ए.पी.ओ. के कार्यों की समीक्षा और कैम्पा मद से कराये जा रहे वन क्षेत्रों के कार्यों के प्रस्ताव पर विचार-विमर्श किया गया।

बैठक में वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि राज्य में कैम्पा निधि से कराये गये कार्यों में वन क्षेत्रों में पेयजल के लिए 222 सोलर वाटर पंप लगाये गये हैं और बस्तर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा के लिए 835 सोलर पंपों की स्थापना की गई है। कैम्पा मद से अटल नगर (नया रायपुर), जंगल सफारी और बॉटनिकल गार्डन का निर्माण कराया गया है। इसी तरह से भारत स्वच्छता अभियान के अंतर्गत नौ सौ शौचालयों का निर्माण कराया गया है। अधिकारियों ने बताया कि कैम्पा मद से 28 हजार 493 हेक्टेयर क्षेत्र में वनीकरण क्षतिपूर्ति के कार्य कराये गये हैं। विभिन्न नदियों के तटों पर लगभग एक हजार 301 हेक्टेयर क्षेत्र में आॅक्सी वन लगाने और 898 किलोमीटर सड़कों के किनारे वृक्षारोपण का कार्य किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि राज्य के प्राचीन देव वनों के संरक्षण एवं विकास के कार्यों के साथ ही वन क्षेत्रों में मुनारा निर्माण के कार्य और वनों की सुरक्षा के लिए वन क्षेत्रों में बाउण्ड्रीवाल के निर्माण के कार्य कराये गये हैं। अधिकारियों ने बताया कि राज्य के गरियाबंद, राजनांदगांव, नारायणपुर, कांकेर, बालोद सहित अन्य जिला में बायोडायवर्सिटी एवं इको विकास के कार्य कराये जा रहे हैं। बैठक में वन विभाग के अपर मुख्य सचिव सी.के. खेतान, वित्त विभाग के प्रमुख सचिव अमिताभ जैन, आवास एवं पर्यावरण सचिव संजय शुक्ला सहित वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close