टेक्नोलॉजीदेश

भारत के पुणे शहर में पहली बार स्कल ट्रांसप्लांट की सर्जरी की गई.

पुणे. भारत के पुणे शहर में पहली बार स्कल ट्रांसप्लांट की सर्जरी की गई. यह सर्जरी सफल हुई है. दरअसल, 4 साल की बच्ची की 60 फीसदी खोपड़ी डैमेज हो चुकी थी. एक सड़क दुर्घटना में बच्ची की खोपड़ी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई थी.

जिसके बाद थ्री-डायमेंशनल इंडीविजुअलाइज पॉलिथीन बोन लगाई है. यह एक तरह की हड्डियां हैं जिन्हें अमेरिका स्थित एक कंपनी ने बनाया है. इनकी लंबाई और आकार डैमेज स्कल के बराबर था. इस बच्ची का यह ऑपरेशन देश का पहला स्कल ट्रांसप्लांट बताया जा रहा है जो कि सफल रहा.

बच्ची का इलाज करने वाले भारती अस्पताल के डॉक्टर जितेंद्र ओसवाल का कहना है कि ‘एक्सिडेंट का असर बहुत ही घातक था. बच्ची को अचेत अवस्था में अस्पताल में लाया गया. उसके सिर से बहुत खून निकल रहा था. जिसके बाद उसे तुरंत वेंटिलेटर पर रखा गया. सीटी स्कैन में पता चला कि उसकी स्कल के पीछे की हड्डी में फ्रैक्चर आया है जिसके चलते वह सूज गई है.’

उसके बाद बच्ची की दो सर्जरी करके घर भेज दिया गया था. डॉक्टर्स ने इस साल उसे दोबारा अस्पताल में भर्ती किया था और अब सफलतापूर्वक उसकी खोपड़ी ट्रांसप्लांट की सर्जरी हुई. सर्जरी के बाद बच्ची की हालत में सुधार होने लगा है.

बच्ची की मां ने बताया, ‘वह स्कूल जा रही है और पूरे मजे से दोस्तों के साथ खेल रही है. अब वह पहले की तरह खुश है और चहक रही है.’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close