December 5, 2021

Dainandini

Chhattisgarh Fastest Growing News Portal

23 वर्षीय आर्यन को N.C.B अधिकारियों द्वारा एक क्रूज शिप पार्टी पर छापे के बाद 3 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था।

रायपुर,

क्रूज ड्रग्स केस में मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद आर्यन खान की जमानत पर आज फैसला हो सकता है। बॉम्बे हाईकोर्ट में दोपहर 3 बजे सुनवाई शुरू हुई। आरोपियों की जमानत का विरोध करते हुए एडिशनल सॉलिसिटर जनरल (A.S.G) अनिल सिंह ने N.C.B की तरफ से दलील दीं।उन्होंने कहा कि आर्यन को जमानत मिलने पर सबूतों से छेड़छाड़ की जा सकती है। A.S.G ने कहा कि आर्यन पिछले कुछ सालों से नियमित ड्रग्स ले रहे हैं। रिकॉर्ड से पता चलता है कि वे कई लोगों को ड्रग्स उपलब्ध कराते रहे हैं। जिस तादाद में ड्रग्स की मात्रा मिली है, उससे साफ है कि वह नशा तस्करों के संपर्क में रहे हैं।A.S.G ने सवाल उठाया कि ये बात बार-बार पूछी जा रही है कि हमने ड्रग सेवन की जांच नहीं की है। जब उन्होंने इसका सेवन नहीं किया तो जांच का का सवाल ही नहीं है यह केस इस बात को लेकर है कि आर्यन के पास ड्रग्स पाई गई है।बुधवार को कोर्ट ने कहा था कि यदि 1 घंटे में A.S.G दलील पूरी कर लेते हैं

तो गुरुवार को ही इस मामले में फैसला ले लिया जाएगा।ससे पहले दो दिन तक हुई सुनवाई के दौरान आर्यन खान, उनके दोस्त अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमीचा के वकीलों ने अपना पक्ष रखा है।सुनवाई के दौरान आर्यन खान के वकील मुकुल रोहतगी ने कोर्ट में कहा था कि आर्यन खान की कस्टडी का कोई कारण नहीं दिया गया है। इसके साथ ही आर्यन के पास से ड्रग्स की रिकवरी भी नहीं हुई है, ऐसे में उनकी गिरफ्तारी पूरी तरह गलत है। मंगलवार को बहस के दौरान पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने तर्क दिया था कि आर्यन खान यंग बॉय है इसलिए उसे जेल के बजाय सुधार गृह में भेजा जाना चाहिए।शुक्रवार तक फैसला आने की संभावना

फिलहाल आर्यन एक अन्य आरोपी अरबाज मर्चेंट के साथ आर्थर रोड जेल में बंद है। जबकि मुनमुन धमीचा भायखला महिला जेल में है। कानूनी जानकारों की माने तो जज इसके बाद समय के अभाव का हवाला देते हुए या पेश सबूतों और बाकी दस्‍तावेजों को पढ़ने के लिए वक्‍त लें। ऐसे में फैसला सुरक्ष‍ित रखा जा सकता है। अब यदि ऐसा होता है तो शुक्रवार को आर्यन की जमानत पर फैसला आ सकता है।जमानत नहीं मिली तो 15 नवंबर तक जेल में रहेंगे आर्यन अगर आर्यन को जमानत नहीं मिलती है तो उनकी न्‍याय‍िक हिरासत बढ़ जाएगी। 30 और 31 अक्टूबर को कोर्ट की छुट्टी है। इसके बाद 1 नवंबर से दिवाली की छुट्टियां शुरू हो रही हैं। इस कारण बॉम्बे हाईकोर्ट 12 नवंबर तक बंद रहेगा। 13 और 14 नवंबर को कोर्ट की फिर से शनिवार-रविवार की छुट्टी रहेगी। इस तरह कोर्ट में अगली सुनवाई 15 नवंबर को ही हो पाएगी।