January 21, 2022

Dainandini

Chhattisgarh Fastest Growing News Portal

जीपी के बयान पर राजनीति गर्म : भाजपा ने कहा- निरपराध लोगों को फंसा रही सरकार

रायपुर,

आय से अधिक संपत्त और अवैध उगाही के मामलों में फंसे निलंबित IPS जीपी सिंह के ताजा बयान से छत्तीसगढ़ का राजनीतिक माहौल गर्म हो गया है। जीपी सिंह ने अपने ऊपर लगे आरोपों को पॉलिटिकल विक्टिमाइजेशन बताया था। उसके बाद भाजपा जीपी सिंह के समर्थन में खड़ी हो गई है। वहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है, खुद काे बचाने के लिए जीपी सिंह कुछ भी बोल दें यह ठीक नहीं है।

भाजपा विधायक दल के नेता धरमलाल कौशिक ने कहा, निलंबित एडीजी जीपी सिंह ने बयान दिया है कि मौजूदा सरकार की ओर से नान मामले में पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और उनकी पत्नी के खिलाफ एफआईआर करने, केस में फंसाने तथा गवाह के ऊपर दबाव डालने का प्रयास किया गया। जीपी सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में भी यह शपथपत्र दिया है कि किस प्रकार से गवाहों के ऊपर दबाव बनाने का प्रयास किया गया है। कौशिक ने कहा, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जब कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष थे तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके द्वारा पत्र लिख गया कि नान घाेटाले में फंसे दो अधिकारियों के खिलाफ जांच और कार्रवाई होनी चाहिए। कौशिक ने कहा, इस प्रकार से अगर सरकार चलेगी और दबाव बनाएंगे तो कैसे निरपेक्ष भाव की अपेक्षा कर सकते हैं। जिस प्रकार से दबाव बनाकर निरपराध लोगों के फंसाने का काम किया जा रहा है जाे सर्वथा अनुचित है।

सर्वोच्च न्यायालय खारिज कर चुका जमानत

जीपी सिंह के बयान से जुड़े सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, उसके बारे में मैं कुछ नहीं कहूंगा अभी जांच हो रही है। मामला बेहद संगीन है। सुप्रीम कोर्ट तक जमानत खारिज हो जाने के बाद गिरफ्तारी हुई है। अपने बचाव के लिए वे कुछ भी बयान देंगे यह उचित नहीं है।

क्या कहा था जीपी सिंह ने

शुक्रवार शाम रायपुर की अदालत से बाहर आते हुए जीपी सिंह ने कहा था, ये पॉलिटिकल विक्टमाइजेशन का केस है। मैं शुरू से कह रहा हूं, नागरिक आपूर्ति निगम की जांच कर रहा था तब गवाहों को हॉस्टाइल करने कहा गया। इस मामले में रमन सिंह और वीणा सिंह को फंसाने कहा गया।