September 17, 2021

Dainandini

Chhattisgarh Fastest Growing News Portal

जब फ्लाइट से बक्से में बंद होकर जापान से भागा ये बड़ा कारोबारी

जब फ्लाइट से बक्से में बंद होकर जापान से भागा ये बड़ा कारोबारी

जब फ्लाइट से बक्से में बंद होकर जापान से भागा ये बड़ा कारोबारी

कार निर्माता कंपनी रेनॉ (Renault) और निसान (Nissan) के चेयरमैन और सीईओ रहे कार्लोस गोन (Carlos Ghosn) को एक बार बक्से में बंद होकर हवाई यात्रा करनी पड़ी थी. कार्लोस गोन उस समय जापान में नजरबंद थे. देश से निकलने के लिए उन्होंने इसी तरीक़े का इस्तेमाल किया था. अब कार्लोस ने उस घटना के बारे में दुनिया को विस्तार से बताया है.

बीबीसी से बात करते हुए कारोबारी कार्लोस गोन ने बताया कि ये घटना साल 2019 की है. दिसंबर की सर्द रात को 10:30 बजे मैंने ख़ुद को एक म्यूज़िक बॉक्स में बंद किया, लोगों ने मुझे प्लेन पर बिठाया और मैं जापान से उड़ान भरने का इंतजार करने लगा.

कार्लोस गोन ने बताया कि कैसे वो टोक्यो की गलियों में अपना भेष बदलकर निकले ताकि कोई उन्हें पहचान ना सके, उन्हें जापान से बाहर ले जाने के लिए एक बड़े म्यूज़िक बॉक्स को चुना गया, इसके जरिए वो अपने देश लेबनान पहुंचे.

दरअसल, कार्लोस को नवंबर 2018 में गिरफ़्तार किया गया था. निसान कंपनी ने उन पर अपना सालाना वेतन कम बताने और कंपनी के फंड का गलत इस्तेमाल करने का आरोप लगाया था. उस समय कार्लोस जापानी कंपनी निसान के और फ्रांस की कंपनी रेनॉ के भी चेयरमैन थे. लेकिन बाद में रेनॉ और निसान में विवाद हो गया.

टोक्यो एयरपोर्ट पर अपनी गिरफ़्तारी के बारे में बताते हुए कार्लोस गोन कहते हैं, “ये अचानक कुछ बेहद दर्दनाक होने जैसा था.” तब कार्लोस को टोक्यो डिटेंशन सेंटर में ले जाकर जेल के कपड़े दिए गए और एक सेल में रखा गया.

कार्लोस सहमे थे, क्योंकि उन्हें ये पता नहीं था कि मुक़दमा कब शुरू होगा और वे कब जेल से छूटेंगे? दोषी पाए गए तो 15 साल जेल की सजा होगी. क्योंकि जापान ऐसा देश है, जहां अपराध साबित होने की दर 99.4% है. लेकिन, कार्लोस ने कैद से बाहर निकलने का फ़ैसला किया.

कारोबारी कार्लोस गोन बताते हैं कि बाहर निकलकर छुपने का एक ही तरीका था, किसी बक्से या सामान में छुप जाया जाये ताकि कोई देख ना सके, ना ही पहचान सके. उस समय म्यूज़िकल इंस्ट्रूमेंट्स के एक बड़े बक्से का इस्तेमाल करने की ठानी, क्योंकि उस दौरान जापान में कई म्यूजिकल प्रोग्राम हो रहे थे.

नॉर्मल कपड़ पहनकर कार्लोस टोक्यो से बुलेट ट्रेन में ओसाका गए. यहां एक निजी जेट विमान स्थानीय हवाई अड्डे पर उनका इंतज़ार कर रहा था. लेकिन, उसमें सवार होने से पहले म्यूज़िकल इंस्ट्रूमेंट्स वाला बॉक्स मंगवाया और खुद को उसमें बंद किया. कार्लोस ने कहा कि वो क़रीब डेढ़ घंटे बक्से में रहे. उन्हें वो डेढ़ घंटे, डेढ़ साल के बराबर लगे.

कुछ ही देर बाद निजी जेट विमान ने उड़ान भरी और कार्लोस गोन जापान की सीमाओं से आजाद हो गए. गोन के साथ उनके सहकर्मी भी जापान में कैद थे. उनको लेकर गोन कहते हैं कि मुझे उन सभी लोगों के लिए दुख है जो जापान में बंधक हैं.