देश

पुलवामा में आतंकियों ने की एसपीओ की हत्या, सर्च अभियान जारी

श्रीनगर। दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने शनिवार की सुबह राज्य पुलिस के एक कर्मी के गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात के बाद आतंकी फरार हो गए। फिलहाल, पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरु कर दी है।

मिली जानकारी के अनुसार, रोहमू इलाके में आज सुबह पुलिस एसपीओ शौकत अहमद डार एक पेट्रोल पंप के पास खड़ा था। अचानक वहां आतंकी आए और उन्होंने उसे प्वायंट ब्लैंक रेंज से गोली मार दी। शौकत मौके पर ही मारा गया। वारदात के बाद आतंकी वहां से फरार हो गए।

एसएसपी पुलवामा मोहम्मद असलम चौधरी ने एसपीओ शौकत अहमद की शहादत की पुष्टि करते हुए बताया कि यह घटना सुबह साढ़े नौ बजे के करीब हुई है। आतंकियों को पकड़ने लिए रोहमू व उसके साथ सटे इलाकों में तलाशी अभियान चलाया गया है।

बांडीपोर में आतंकियों ने चाचा भतीजा को मौत के घाट उतारा

उत्तरी कश्मीर के हाजिन बांडीपोर में आतंकियों ने शनिवार की तड़के चाचा-भतीजे को अगवा कर, दोनों को मौत के घाट उतार दिया। फिलहाल,पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरु कर दी है। इस दाेहरे हत्याकांड के लिए लश्कर-ए-ताईबा के आतंकियों को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है।

यहां मिली जानकारी के अनुसार, शुक्रवार को आधी रात के बाद स्वचालित हथियारों से लैस आतंकियों का एक दल हाजिन के शाहगुंड इलाके में आया। आतंकियों ने पहले गुलशन मोहल्ले में रहने वाले गुलाम हसन डार उर्फ हसन रस्सा को उसके घर से अगवा किया। उसके बाद आतंकियों ने बशीर अहमद डार नामक एक अन्य युवक को उसके घर से अगवा किया। गुलाम हसन और बशीर दोनों ही रिश्ते में चाचा भतीजा हैं और पेशे से सूमो चालक हैं।

बताया जाता है कि दोनों को छुड़ाने के लिए उनके परिजनों ने आतंकियों के आगे कई बार हाथ पांव जोड़े। लेकिन आतंकी नहीं माने। आतंकियों ने कहा कि वह इन दोनों के वाहन में कहीं जाना चाहते हैं, इसलिए साथ ले जा रहे हैं जल्द ही दोनों को छोड़ दिया जाएगा। इसके बाद आतंकी हसन डार और बशीर अहमद को अपने साथ अगवा कर ले गए। करीब दो घंटे बाद तड़के तीन बजे के करीब रहीम डार मस्जिद के पास गोलियां चलने की आवाज सुनी।

यह जगह गुलशन मोहल्ले से लगभग एक किलोमीटर की दूरी पर है। गोलियों की आवाज सुनकर निकटवर्ती शीिवर से सुरक्षाबल तुरंत मौके पर पहुंचे,तब तक आस पास रहने वाले लोग भी वहां पहुं गए थे। उन्होंने वहां गुलाम हसन अौर बशीर के गोलियों से छलनी शव पड़े देखे।

पुलिस ने दोनों के शव अपने कब्जे में लिए। पोस्टमार्टम के बाद दोनों के शव उनके परिजनों के हवाले किए गए हैं।

पुलिस प्रवक्ताने बताया कि यह वारदात लश्कर के आतंकियों ने अंजाम दी है। इन्हीं आतंकियों ने बीते माह हाजिन में दो युवकों मुंतजिर और मंजूर को अगवा कर मौत के घाट उतारा था। इन वारदातों में लश्कर के एक स्थानीय आतंकी हाथ माना जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close