विदेश

उत्तर कोरिया अमेरिका के साथ दक्षिण कोरिया के सैन्य अभ्यास पर भड़का

प्योंगयांग: उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया के अमेरिका के साथ दो सैन्याभ्यासों में शामिल होकर पनमुनजोम घोषणा की भावना के साथ खिलवाड़ करने की निंदा की है. उत्तर कोरिया के सरकारी समाचार पत्र ‘मिंजू जोसन’ ने एक आलेख में रविवार को कहा कि दक्षिण कोरियाई सेना ने हवाई के जलक्षेत्र रिम ऑफ पैसिफिक में 27 जून से होने वाले संयुक्त सैन्याभ्यास के लिए तीन युद्धपोत, लड़ाकू विमान और 700 ऑड ट्रप्स भेजे हैं. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, आलेख में कहा गया कि दक्षिण कोरिया ने यह भी ऐलान किया है कि वह अगस्त में प्रस्तावित युद्धाभ्यास उल्जी फ्रीडम गार्डियन को भी लॉन्च करेगा.

उत्तर कोरिया के सर्वोच्च शीर्ष नेता किम जोंग-उन और दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जे-इन ने 27 अप्रैल को पनमुनजोम घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किए थे और कोरियाई प्रायद्वीप के राष्ट्रीय सुलह और शांति के लिए काम करने का वादा किया था.

उत्तर कोरिया में सैन्य फेरबदल पर करीब से नजर रख रहा है दक्षिण कोरिया
अमेरिका के साथ शिखर बैठक से पहले उत्तर कोरिया द्वारा सेना के तीन शीर्ष अधिकारियों को बदले जाने की खबरों पर दक्षिण कोरिया करीब से नजर रखे हुए है. गौरतलब है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन के बीच 12 जून को सिंगापुर में शिखर बैठक होने की संभावना है. इस दौरान उत्तर कोरिया के पास मौजूद परमाणु हथियारों का जखीरा प्रमुख मुद्दा रहेगा.

मीडिया में आयी खबरों के अनुसार , उत्तर कोरिया में हुई फेर – बदल का लक्ष्य संभवत: सेना को कुछ काबू में लाना है. पिछले महीने के अंतिम में उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया में खबर आयी थी कि किम सु गिल को सेना के शक्तिशाली जनरल पोलिटिकल ब्यूरो (जीपीबी) का निदेशक नियुक्त किया गया है. उन्होंने किम जोंग गाक की जगह ली है.

दक्षिण कोरिया, अमेरिका के विदेश मंत्रियों ने किम, ट्रंप मुलाकात को लेकर चर्चा की
दक्षिण कोरिया और अमेरिका के शीर्ष राजनयिकों ने 12 जून को ट्रंप और किम जोंग उन के बीच होने वाली बैठक को लेकर सोमवार को टेलीफोन पर चर्चा की. सियोल के विदेश मंत्रालय के मुताबिक, दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्री कांग युंग वा और अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो के बीच फोन पर लगभग 15 मिनट बात हुई, जिस दौरान कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण के लक्ष्य को हासिल करने और चिरस्थाई शांति बनाए रखने के तरीकों पर चर्चा हुई.

कांग और पोम्पियो ने उत्तर कोरिया के वरिष्ठ नेता किम योंग चोल के हालिया अमेरिकी दौरे और ट्रंप से मुलकात को लेकर भी अपने विचार साझा किए. ट्रंप ने किम योंग से मिलने के बाद एक जून को कहा था कि वह 12 जून को सिंगापुर में किम जोंग उन से मुलाकात करेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close