विदेश

भारत के खिलाफ पाकिस्तान की मदद कर रहा चीन, पाक नौसेना को देगा 8 नई पनडुब्बियां

नई दिल्ली: चीन भारत के खिलाफ पाकिस्तान को लगातार मजबूत करने में लगा हुआ है. भारत के खिलाफ जासूसी के लिए जहां चीन ने पिछले दिनों पाकिस्तान के लिए दो सैटेलाईट लॉन्च किए. वहीं, चीन ग्वादर से लेकर भारत-पाक सीमा पर तैनात पाकिस्तानी सेना की मदद कर रहा है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, चीन ने हिंद महासागर में भारतीय नौसेना की बढ़ती ताकत पर अंकुश लगाने के लिए पाकिस्तान को 8 नई पनडुब्बियां मुहैया कराई हैं.

सूत्रों के मुताबिक, प्रोजेक्ट हैंगूर के तहत चीन की ‘चाईना शिपबिल्डिंग इंडस्ट्री कार्पोरेशन’ पाकिस्तानी नौसेना के लिए 8 नई पनडुब्बियां बना रही है. ये जल्द ही पाकिस्तानी को सौंपी जाएंगी. आपको बता दें कि भारतीय नौसेना के पास फिलहाल 16 पनडुब्बियां हैं, जबकि पाकिस्तानी नौसेना के पास अभी सिर्फ 10 पनडुब्बियां हैं. चीन की इस मदद से पाकिस्तान के पास कुल 18 पनडुब्बियां हो जाएंगी. आने वाले दिनों में भारतीय नौसेना को इन दोनों पड़ोसी देशों से एक साथ चुनौती मिल सकती है.

भारत की ताक हैं ये पनडुब्बियां
गौरतलब है कि इस साल जनवरी के महीने में भारत ने स्कॉर्पिन क्लास की तीसरी पनडुब्बी ‘करंज’ मुंबई के मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएल) से लॉन्च की थी. प्रॉजेक्ट 75 प्रोग्राम के तहत एमडीएल द्वारा बनाई गई 6 पनडुब्बियों में से यह तीसरी है. इस श्रेणी की पहली पनडुब्बी आईएनएस कलवरी पिछले साल 14 दिसंबर को लॉन्च की गई थी. वहीं दूसरी पनडुब्बी खांदेरी भी पहले ही लॉन्च की जा चुकी है, जिसका समुद्र में ट्रायल किया जा रहा है.

भारत पर नजर रखने के लिए लॉन्च किया सैटेलाइट
उधर, भारत पर नजर रखने के लिए चीन और पाकिस्तान ने मिलकर दो सैटेलाइट भी तैयार की है. चीन ने रिमोट सेंसिंग सैटेलाइट बनाई है, जिसका नाम PRSS-1 है. वहीं, पाकिस्तान के वैज्ञानिकों ने PakTES-1A नाम से सैटेलाइट तैयार की है. इन दोनों सैटेलाइटों को इसी महीने चीन के उत्तर पश्चिमी प्रांत जियुकुआन सैटेलाइट लॉन्च सेंटर से लॉन्च किया गया था. चीन की PRSS-1 सैटेलाइट दिन और रात के समय मॉनिटरिंग करने में सक्षम है, यहां तक कि घने बादलों में भी देखने में सक्षम है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close