विदेश

PM हाउस की 102 कारें आज होंगी नीलाम…

भारी भरकम खर्च पर चला चाबुक

जो गाड़ियां नीलाम होने जा रही हैं, उनमें हाल में खरीदी गईं चार मर्सिडीज बेंज, 8 बुलेट प्रूफ बीएमडब्ल्यू, तीन 5 हजार सीसी की एसयूवी और दो 3 हजार सीसी की एसयूवी शामिल हैं.

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के नए वजीरे आजम इमरान खान वहां की राजनीति में नई लाइन खींचने की कोशिश में जुटे हैं. पहले उन्होंने घोषणा की कि वह पीएम आवास में नहीं रहेंगे. वह पाकिस्तान में वीआईपी कल्चर को खत्म करने की कोशिशों में जुटे हैं. इसके साथ ही वह शाही खर्चों पर भी लगाम की कोशिशों में जुटे हैं. इसी दिशा में कदम उठाते हुए उन्होंने ऐलान कर दिया है कि अब पीएम आवास एक बड़े कॉलेज में बदल दिया जाएगा.
इसके अलावा पीएम हाउस में मौजूद भारी भरकम गाड़ियों को नीलाम किया जाएगा. सोमवार (17 सितंबर 2018) को यहां पीएम हाउस की 102 गाड़ियों को नीलाम किया जाएगा. जो गाड़ियां नीलाम होने जा रही हैं, उनमें हाल में खरीदी गईं चार मर्सिडीज बेंज, 8 बुलेट प्रूफ बीएमडब्ल्यू, तीन 5 हजार सीसी की एसयूवी और दो 3 हजार सीसी की एसयूवी शामिल हैं. इसके साथ ही 24 मर्सिडीज बेंच भी नीलाम की जाएंगीं.

शाही गाड़ियों का इतना बड़ा बेड़ा है पीएम हाउस में

गाड़ियों की सूची देखकर आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि पाकिस्तान के पीएम हाउस में कितनी लग्जरी गाड़ियों का बेड़ा है. नीलाम होने वाली गाड़ियों में दो विशेष बुलेटप्रूफ गाड़ियां भी शामिल हैं. अन्य नीलाम होने वाली गाड़ियों में 40 टोयोटो कार हैं. इसके अलवा दो लेक्सस कार भी है. पीएम हाउस के इस बेड़े में दो लैंड क्रूजर भी हैं. इन्हें भी नीलाम किया जाएगा. लग्जरी गाड़ियों के अलावा छोटी गाड़ियों की बात करें तो उसमें आठ सुजुकी कारें, 5 मित्सुबिशी कार, 9 होंडा कार और दो जीप शामिल हैं. जो भी इन गाड़ियों की सबसे ऊंची बोली लगाएगा, उन्हें इनकी चाबी सौंपी जाएगी. जियो न्यूज के हवाले से पहले ऐसी खबरें भी आई थीं कि इन कारों की नीलामी नहीं की जाएगी. इनका इस्तेमाल केबिनेट डिवीजन के लिए किया जाएगा. खासकर पाकिस्तान में आने वाले विदेशी मेहमानों की खातिरदारी में इन्हें लगाया जाएगा. लेकिन ऐसा नहीं हुआ, अब इन कारों की नीलाम की जाएगी.

पीएम हाउस बनेगा अब कॉलेज….

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का निवास पोस्टग्रेजुएट संस्थान के परिसर में तब्दील होने वाला है. उन्होंने सार्वजनिक उपयोग के लिए आधिकारिक भवनों के इस्तेमाल की योजना की घोषणा के दौरान यह बात कही. ‘जियो’ की रिपोर्ट के अनुसार, शिक्षा मंत्री शफकत महमूद ने मीडिया से कहा कि पिछली सरकारों के ‘राजसी’ रहन-सहन से जनता परेशान हो चुकी थी. मंत्री ने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि सरकारी अधिकारी इस प्रकार रहें जिसमें जनता का धन व्यय न हो. इसीलिए, प्रधानमंत्री इमरान खान ने फैसला लिया है कि वह प्रधानमंत्री निवास में नहीं रहेंगे. इसके साथ ही उन्होंने फैसला लिया है कि गवर्नर भी गवर्नर हाउस में नहीं रहेंगे, ताकि अतिरिक्त व्यय को रोका जा सके.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close